Best 100+ Yaad Miss you Shayari in Hindi

Best collection of Miss you, Yade shayai in hindi also large collection of hindi shayari in various category.

hindi love shayari for her

जब आपकी याद आती है तो लगता है,
हर पत्थर पर लिखू “I MISS U” और हर वो पत्थर तुम्हे मारू,क्यों कि? तुम्हे भी पता चले कि हर याद में कितना दर्द होता है|




याद करते है यारों को,तो याद से दिल भर आता है,कभी साथ रहा करते थे सब,आज सबको साथ देखने को दिल तरस जाता है…
     मिस यू !




SMS तो एक बहाना है,इरादा तो आपका एक पल चुराना है,आप याद करे ना करे कोई बात नही,पर आपकी याद आती है हमे बस  इतना ही बताना है…




अजनबी शहर के अजनबी रास्ते,मेरी तन्हाई पर मुस्कुराते रहे…मैं बहुत दूर तक युही चलता रहा,तुम बहुत देर तक याद आते रहे…




“हंसी ने लबों पर थ्रिकराना छोड दिया ख्‍बाबों ने सपनों में आना छोड दिया नहीं आती अब तो हिचकीया भी शायद आपने भी याद करना छोड’ दिया ”



बहाने बहाने से आपकी बात करते है,हर पल आपको महसूस करते है,इतनी बार तो आप साँस भी नही लेते होंगे,जितनी बार हम आपको याद करते है…



वक़्त के दायरे से हम गुज़र न जाये,अरमानो के सिलसिले कही बिखर न जाये,इसलिए आपको बेवकत याद करते है,कही आपके दिल से हम निकल न जाये…



एक तनहा रात में आपकी याद आयी,याद भुलाने के लिए हमने १ मोमबत्ती जलाई,उफ़ वो मोमबत्ती क्या क़यामत लायी,उठते धुए ने भी आपकी तस्वीर बनायीं..



भूलते नहीं आपको कभी ये कैसे बताये,आपकी यारी की अहमियत क्या है ये कैसे समझाए,आसमा से ऊँची हे यारी अपनी,इस छोटे से SMS में आपको कैसे बताये…



खामोश पलकों से बह कर जब आँसू आते है,आप क्या जाने आप हमे कितने याद आते है,आज भी उस मोड पे खडे है,जहाँ आपने कहा था ठहरो हम अभी आते है…



जिंदगी मे कोई खास है,तन्हाई के सिवा कुछ ना पास है,पा तो लेंगे जिंदगी की हर खुशी,पर हर खुशी मे तेरी कमी का एहसास है…



दुनिया में यादे बड़ी खास होती है,जो दूर हो उनके दिल के पास होती है,याद करने के लिए वजह जरुरी नहीं,यादे तो रिश्तो के बीच का एहसास होती है…



देर रात को मेरा SMS आये,तो यु न समझना मैंने आपको परेशान किया,इसका मतलब है आप वो खास है,जिसे मैंने अपनी आँखे बंद करने से पहले याद किया…



चाँद ने चाँदनी को याद किया,प्यार ने प्यार को याद किया,लेकिन हमारे पास ना चाँद है ना प्यार,इसलिए हमने चाँद जैसे दोस्त को याद किया…



जादु है तेरी हर एक बात मे,याद बहुत आते हो दिन और रात मे,कल जब देखा था मैने सपना रात मे,तब भी आपका ही हाथ था मेरे हाथ मे…



लहर आती है किनारे से पलट जाती है,याद आती है दिल में सिमट जाती हैदोनों में फर्क सिर्फ ईतना है,लहर बेवकत आती है और याद हर वक़्त आती है…



खता हो गई तो सजा सुना दो,दिल मे इतना दर्द क्यो है वजह बता दो,देर हो गई है याद करने मे जरूर,लेकिन तुम्हे भुला देंगे ये खयाल दिल से मिटा दो…



आज कुछ कमी है तेरे बगैर,ना रंग ना रोशनी है तेरे बगैर,वक़्त अपनी रफ्तार से चल रहा है,बस धडकन मेरी थमी है तेरे बगैर…



दूर… है आपसे.. . तो कोई गम… नही,दूर… रहकर भूलने वाले हम.. नही…मुलाकात.. ना हो तो क्या हुआ !आपकी…याद… मुलाकात…से कम नही…



एक तु तेरी आवाज़ याद आएगी,तेरी कही हुई हर बात याद आएगी,दिन ढल जायेगा रात याद आएगी,हर लम्हा पहली मुलाकात याद आएगी…



बिखरे रिश्तो को कोई रूप दे दो,खिलते फुलों को थोडी धूप दे दो,आपकी याद आयी है तो SMS किया हमने,आप भी हमारी याद आने का कोई सबूत दे दो……..



हर दूरी मिटानी पडती है,हर बात बतानी पडती है,लगता है दोस्तों के पास वक्त ही नही है आज कल,खुद अपनी याद दिलानी पडती है…



जादू है तेरी हर एक बात में,याद बहुत आते हो दिन और रात मेंकल जब देखा था मैने सपना रात मेंतब भी आपका ही हाथ था मेरे हाथ में…



बिन सावन बरसात नहीं होती,सूरज डूबे बिना रात नहीं होती,क्या करे अब कुछ ऐसे हालत है,आपकी याद आये बिना दिनकि शुरुवात नहीं होती…



याद सताये किसी की तो कोई क्या करे,दिल मिलने को चाहे किसी से तो कोई क्या करे,सपनों मे होती है मुलाकात लोग कहते है,पर प्यार मे नींद ही ना आए तो कोई क्या करे…



कुछ नहीं चाहिए तुम्हारी एक मुस्कान ही काफी है,तुम दिल में बसे रहो ये अरमान ही काफी है,हम ये नहीं कहते हमारे पास आ जाओ,बस हमें याद रखना ये एहसान ही काफी है…



लफ़्ज़ों की तरह मुझे किताबों में मिलना,तू बन के महक मुझे गुलाबों में मिलना,जब भी मुझे तेरी याद आये तो,बनके आंसू मेरी आँखों में मिलना…



चले गए हो दूर कुछ पल के लिए,दूर रहकर भी करीब हो हर पल के लिए,कैसे याद ना आए आपकी हर पल के लिए,जब दिल मे हो आप हर पल के लिए…



यह आरजू नही की किसी को भुलाए हम,ना तमन्ना है की किसी को रुलाए हम,जिसको जितना याद करते है हम,उसे भी उतना ही याद आते है हम…



एक तु ही सबसे ज्यादा याद आती है,एक तेरी दोस्ती ही मेरे दिल को भाती है,किसी रात को सो जाऊ जो तुझे याद किए बिना,कसम से तू मेरे ख्वाबों मे आकर अपनी याद दिलाती है…



एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर,एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर,पर मुझे तो उस शाम का इंतजार है,जो आए तुम्हे अपने साथ लेकर…



कुछ खुबसूरत पल याद आते है,पलकों पर आँसू छोड जाते है,कल कोई और मिले ना मिले हमे ना भूलना,क्योंकी कुछ रिश्ते जिंदगी भर याद आते है…



मौसम को देखो कितना हसीन है,ठंडी हवाएँ और भीगी ज़मीन है,याद आ रही है उनकी कुछ बाते,वो भी याद कर रहे होंगे इतना यकीन है…



कितना अधूरा लगता है तब,जब बादल हो पर बारिश ना हो,जब जिंदगी हो पर प्यार ना हो,जब आँखे हो पर ख्वाब ना हो,और जब कोई अपना हो पर साथ ना हो…



सारी उम्र आँखों मे एक सपना याद रहा,सदियाँ बीत गई पर वो लम्हा याद रहा,ना जाने क्या बात थी उनमे,सारी महफील भूल गए बस वह चेहरा याद रहा…



दिल की हालत बताई नहीं जाती;हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती;बस एक याद बची है उनके चले जाने के बाद;हमसे तो वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती।




आपकी जुदाई भी हमें प्यार करती हैं.....आपकी याद बहुत बेकरार करती हैं.......जाते जाते कहीं भी मुलाकात हो जाये आप से....तलाश आपको ये नज़र बार बार करती है.....



दिन बीत जाते है अच्छी यादे बनकर, बाते रह जाती है कहानी बनकर, पर दोस्त तो हमेशा दिल के करीब रहेंगे, कभी मुस्कान तो कभी आखों का पानी बन कर....




काश…तुम भी हो जाओ तुम्हारी यादों की तरह…ना वक़्त देखो…ना बहाना… बस चले आओ…



मैं जहा रहू,मैं कही भी हू,तेरी याद साथ है...किसी से कहू,के नहीं कहू,ये जो दिल की बात है...कहने को साथ अपने,एक दुनिया चलती है..पर चुपके के इस दिल मे,तन्हाई पलती है...तेरी याद.. साथ है...तेरी याद साथ है...
I miss you!




उम्र बढ़ती रहती है सांसों के साथ में... यादे जवान रहती हैं समय के साथ में... बचपन से लेकर जीवन की शाम तक.. यादे मचलती रहती हैं हरपल एहसास में...



तेरी आँखों में हमे जाने क्या नज़र आया,तेरी यादों का दिल पर सुरुर है छाया,अब हमने चाँद को देखना छोड़ दिया, और तेरी तस्वीर को दिल में है छुपा लिया...



इस दुनियाँ में सब कुछ बिकता है, फिर जुदाई ही रिश्वत क्यु नही लेती? मरता नहीं है कोई किसी से जुदा होकर, बस यादें ही हैं जो जीने नहीं देती..




सभी नगमे साज़ मैं गाए नहीं जाते.. सभी लोग महफ़िलो मैं बुलाए नहीं जाते.. कुछ पास रह कर भी याद नहीं आते.. कुछ दूर रह कर भी भुलाये नहीं जाते..




ना वो आ सके ना हम कभी जा सके, ना दर्द दिल का किसी को सुना सके, बस बैठे है यादों में उनकी,ना उन्होंने याद किया और ना हम उनको भुला सके....




हंसी ने लबों पर थिरकना  छोड दिया ख्‍बाबों ने सपनों में आना छोड दिया नहीं आती अब तो हिचकीया भी शायद आपने भी याद करना छोड दिया....




कलम चलती है तो दिल की आवाज लिखता हूँ; गम और जुदाई के अंदाज़-ए-बयां लिखता हूँ; रुकते नहीं हैं मेरी आँखों से आंसू; मैं जब भी उसकी याद में अल्फाज़ लिखता हूँ।




सारी उम्र आंखो मे एक सपना याद रहा,सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा, ना जाने क्या बात थी उनमे और हम मै,सारी महफ़िल भुल गये बस वह चेहरा याद रहा....




याद किसी को करना ये बात नहीं जताने की, दिल पे चोट देना आदत है ज़माने की,हम आपको बिल्कुल नहीं याद करते,क्योकि याद किसी को करना निशानी है भूल जाने की......




ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा,मैं खुद तन्हा रहा मगर दिल को तन्हा नहीं रखा,तुम्हारी चाहतों के फूल तो महफूज़ रखे हैं,तुम्हारी नफरतों की पीड़ को ज़िंदा नहीं रखा...



दिल तेरी याद में आहें भरता है, मिलने को पल-पल तड़पता है,मेरा यह सपना टूट ना जाए कहीं, बस इसी बात से दिल डरता है...




इस दुनियाँ में सब कुछ बिकता है, फिर जुदाई ही रिश्वत क्युँ नही लेती? मरता नहीं है कोई किसी से जुदा होकर,बस यादें ही हैं जो जीने नहीं देती..




यादों की किमत वो क्या जाने, जो ख़ुद यादों को मिटा दिया करते हैं, यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो, यादों के सहारे जिया करते हैं......




तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,वरना हमको कहां तुम से शिकायत होगी,ये तो बेवफ़ा लोगों की दुनिया है,तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी……




यादों की किम्मत वो क्या जाने;जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं, यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो, यादों के सहारे जिया करते हैं!




अगर यूही ये दिल सताता रहेगा, तो इक दिन मेरा जी ही जाता रहेगा,मैं जाता हूँ दिल को तेरे पास छोड़े,ये मेरी याद तुझको दिलाता रहेगा.....




‘मैं जहां रहूं, मैं कहीं भी हूं,तेरी याद साथ है।किसी से कहूं, के नहीं कहूं, ये जो दिल की बात है। कहने को साथ अपने, एक दुनिया चलती है। पर झुक के इस दिल में, तन्हाई पलती है। तेरी याद… साथ है,तेरी याद साथ है।




कभी-कभी ऐसा भी होता है, प्यार का असर जरा देर से होता है, आपको लगता है हम कुछ नहीं सोचते आपके बारे में, पर हमारी हर बात में आपका ही जिक्र होता है !!





हर एक मंजर पर उदासी छाई है, चांद की रोशनी में भी कमी आई है, अकेले अच्छे थे हम अपने आशिएं में,जाने क्यों टूट कर आज फिर आपकी याद आई है !!




हर आहट पर तेरी ही तलाश है, आंखो को तेरी ही प्यास है, न याद आओ हमें इतना कि दिल हमेशा पूछे,धड़कन किसके पास है !!



आज सर्द हवा ने फिर कुछ ऐसा कर डाला,गरम था अहसास लेकिन दिल जला डाला,यूं तो नाम उनका जुबां पर नहीं है,लेकिन मौसम ने याद मे जाम पिला डाला !!




रोज कहता हु मैं इस बाग़ के फूलों से,हुक सी उठती है जो मेरे दिल के शुलो से,याद आती हो तुम उस वक्त बहोत,जब गीत सावन के गूंजते है इन झूलो से !!




काश फिर वो मिलने कि वजह मिल जाएँ,साथ जो बिताया  वो पल मिल जाये,चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें,क्या पता खाव्बों मैं गुजरा हुआ कल मिल जाएँ !!




आखों में अरमान दिया करते है हम.सबकी नींद चुरा लिया करते है हम.अबसे जब जब आपकी पलके झपकेगी.समझ लेना तब तब आपको याद किया करते है हम।




दिल में छिपी यादों से मैं सवारूँ तुझे,तू दिखे तो अपनी आँखों मै उतारू तुझे !तेरे नाम को अपने लबों पर ऐसे सजाऊ,गर सो भी जाऊ तो ख्वाबो में पुकारू तुझे !




हर वक़्त तेरी यादें तडपाती हैं मुझे,आखिर इतना क्यों ये सताती हैं मुझे,इश्क तो किया था तुमने भी शौंक से,तो क्यों नहीं यह एहसास दिलाती हैं तुझे।




महक होती तो तितलियाँ जरूर आती,कोई रोता तो सिसकियाँ जरूर आती,कहने को तो लोग मुझे बुहत याद करते है,मगर याद करते तो हिचकियाँ जरूर आती.




तुम्हारी यादों में बीती हर बात अलग है,तुम्हारे साथ हुई हर मुलाकात अलग है,हर शख़्स मेरी ज़िन्दगी छूकर गया,मगर तुम्हारी दोसती की बात अलग है.




उसकी आदत पड़ गई है मुझे, जो छुड़ाए नही छुटती;खुद धुंधला पड़ गया हूँ मैं, उसे याद करते-करते;अब उसे न सोचू तो जिस्म टूटने सा लगता है;एक वक़्त गुजरा है उसके नाम का नशा करते-करते।




उनसे दूर जाने का इरादा ना था;सदा साथ रहने का वादा भी ना था;वो याद नहीं करेंगे जानते थे हम;पर इतनी जल्दी भुल जाऐंगे अंदाज़ा ना था।




कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है;प्यास बुझती नहीं और बरसात चली जाती है;आप की यादें कुछ इस तरह आती हैं;नींद आती नहीं और रात गुज़र जाती है!




सब कुछ मिला सुकून की दौलत न मिली;एक तुझको भूल जाने की मोहलत न मिली;करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर;हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत न मिली।




समंदर के सफर में इस तरह आवाज़ दे हमको;हवाएं तेज़ हो जायें और कश्तियों में शाम हो जाये;उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दे;ना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाये।




एक जुर्म हुआ है हम से एक यार बना बैठे हैं;कुछ अपना उसको समझ कर सब राज़ बता बैठे हैं;फिर उसकी प्यार की राह में दिल और जान गवा बैठे हैं;वो याद बहुत आते हैं जो हुमको भुला बैठे हैं।




कुछ लोग भूल कर भी भुलाये नहीं जाते;ऐतबार इतना है कि आजमाये नहीं जाते;हो जाते हैं दिल में इस तरह शामिल कि;उनके ख्याल दिल से मिटाये नहीं जाते।




कोई प्यार पाने की ज़िद्द में है;शायद कोई आज़माने की ज़िद्द में है;मुझे जिस की याद आती है इतनी शिद्दत से;शायद वो मुझ से दूर जाने की ज़िद्द में है।




हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली;कुछ यादें मेरे संग पांव पांव चली;सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ;वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।




हमारी उस सितारे से दोस्ती हो गयीजिसको सोच-सोच के सवेरा हो गयासोचा के चुरा लूं उसे अस्मां सेपर डर है कि कही उस जगह अँधेरा न हो जाये




ये याद है तुम्हारी या यादों में तुम हो,ये खवाब है तुमारा, या खवाबों मैं तुम हो.हम नहीं जानते तुम जान हो हमारीया हमारी जान मैं तुम हो…?




दिल की ख्वाहिश को नाम क्या दूँ;प्यार का उसे पैगाम क्या दूँ;इस दिल में दर्द नहीं उसकी यादे हैं;अब यादे ही दर्द दें;तो उसे इलज़ाम क्या दूँ!




एक आह जो दिल को रुला दे;एक वाह जो मन को बहला दे;एक राह जो मंजिल को मिला दे;और एक मैसेज,जो अपनों की याद दिला दे!





दिल की ख्वाहिश को नाम क्या दूं;प्यार का उसे पैगाम क्या दूं;इस दिल में दर्द नहीं, उसकी यादें हैं;अब यादें ही दर्द दे;तो उसे क्या इल्ज़ाम दूं;वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई;उनसे मिलने की चाह सुकून तबाह कर गई;आहट दरवाज़े की हुई तो उठकर देखा;मज़ाक हमसे हवा कर गई !





हाथ पढ़ने वाले ने तो परेशानी में डाल दिया मुझे;लकीरें देख कर बोला, "तु मौत से नहीं, किसी की......याद में मरेगी"।





जीना चाहते हैं मगर ज़िन्दगी रास नहीं आती;मरना चाहते हैं मगर मौत पास नहीं आती;बहुत उदास हैं हम इस ज़िन्दगी से;उनकी यादें भी तो तड़पाने से बाज़ नहीं आती।






यादें आती हैं यादें जाती हैं;कभी खुशियाँ कभी गम लाती हैं;सिकवा न करो जिंदगी से;आज जो जिंदगी है, वही कल की यादें कहलाती हैं।






आज ये पल है;कल बस यादें होंगी;जब ये पल ना होंगे;तब सिर्फ बातें होंगी;जब पलटोगे जिंदगी के पन्नों को;तो कुछ पन्नों पर नाम और कुछ पर मुस्कुराहटें होंगी।





जब छोटे थे हम ज़ोर से रोते थे,जो पसंद था उसे पाने के लिए;आज बड़े हो गए तो चुपके से रोते हैं;जो पसंद है उसे भुलाने के लिये!





जिस घड़ी तेरी यादों का समय होता है;फिर हमें आराम कहाँ होता है;हौंसला मुझ में नहीं तुझको भुला देने का;काम सदियों का है, लम्हों में कहाँ होता है।





हमने काटी हैं तेरी याद में रातें अक्सर;दिल से गुज़री हैं सितारों की बारातें अक्सर;और कौन है जो मुझको तसल्ली देता;हाथ रख देती हैं दिल पर तेरी बातें अक्सर।





दो कदम तो सब साथ चलते हैं;पर ज़िंदगी भर का साथ कोई नहीं निभाता;अगर रो कर भुलाई जाती यादें;तो हँस कर कोई गम नहीं छुपाता।





हर बात समझाने के लिए नहीं होती;ज़िंदगी हमेशा पाने के लिए नहीं होती;याद तो आती है आपकी हर पल;पर हर याद जताने के लिए नहीं होती।





तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया हमने;प्यार का हर फ़र्ज़ अदा किया हमने;मत सोच कि हम भूल गए हैं तुझे;आज भी खुदा से पहले तुझे याद किया हमने......I miss you !





उसे जब याद आएगा वो पहली बार का मिलना;तो पल पल याद रखेगा या सब कुछ भूल जायेगा;उसे जब याद आएगा गुज़रे मौसम का हर लम्हा;तो खुद ही रो पड़ेगा या खुद ही मुस्कुराएगा।





इश्क़ पाने की तमन्ना में कभी कभी ज़िंदगी खिलौना बन कर रह जाती है;जिसके दिल में रहना चाहते हैं, वो सूरत सिर्फ याद बन कर रह जाती है।






मोहब्बत की हवा जिस्म की दवा बन गयी;दूरी आपकी मेरी चाहत की सज़ा बन गयी;कैसे भूलूँ आपको एक पल के लिए भी;आपकी याद हमारे जीने की वजह बन गयी।





आज बहुत दिनों बाद मन में ये ख़याल आया,क्या कोई इतना भी अपना हो सकता है,कि ये दिल उसकी यादो को ही चुरा लाया,कभी गमो में डुबोकर रुलाया,कभी मीठी यादो ने आकर हसाया,इन यादो ने सबको पागल बनाया,इसने हर इंसान के दिल को रुलाया,आंसुओ कि ताबीर पर भी इसने शमा को जलाया,ये यादो के परवाने तुने किस किस को न अपना बनाया...




जब जब तेरी यादों का रमज़ान आता हैं,मेरी आँखें नींद के रोज़े रखती है।





ख्याल में आता है जब भी उसका चेहरा;तो लबों पे अक्सर फरियाद आती है;भूल जाता हूँ सारे गम और सितम उसके;जब भी उसकी थोड़ी सी मोहब्बत याद आती है।





हिचकियों को न भेजो अपना मुखबिर बना के;हमें और भी काम हैं तुम्हें याद करने के सिवा।




यादें भी क्या क्या करा देती हैं,कोई शायर हो गया, कोई खामोश।




आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की,लम्हें तो अपने आप मिल जाते हैं;कौन पूछता है पिंजरे में बंद परिंदों को,याद वही आते हैं जो उड़ जाते हैं।





आज हम हैं कल हमारी यादें होंगी,जब हम ना होंगे तब हमारी बातें होंगी,कभी पलटोगे ज़िन्दगी के यह पन्ने,तब शायद आपकी आँखों से भी बरसातें होंगी।




दिल की हालत बताई नहीं जाती;हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती;बस एक याद बची है उनके चले जाने के बाद;हमसे तो वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती।





समंदर के सफर में इस तरह आवाज़ दो हमको;हवाएं तेज़ हो जायें और कश्तियों में शाम हो जाये;उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो;ना जाने किस गली में ज़िन्दगी की शाम हो जाये।




यह याद है आपकी या यादों में आप हो;यह ख्वाब है आपके या ख्वाबों में आप हो;हम नहीं जानते बस इतना बता दो;हम जान है आपकी या जान हमारी आप हो?




प्यार करते हैं तुमसे कितना दिखा ना सके;तुम क्या हो हमारे लिए कभी बता ना सके;तुम साथ नहीं हो फिर भी;तुम्हारी याद को कभी हम भुला ना सके।




यादें आँसू होती तो छलक जाती;यादें लिखावट होती तो मिट जाती;यादें तो जिंदगी में बसा वो एहसास हैं;जो लाख कोशिश के बाद भी लफ़्ज़ों में बयान नहीं होती।




कितनी अजीब है मेरे अन्दर की तन्हाई भी,हजारो अपने है मगर याद सिर्फ वो ही आता है।




आज ये पल है, कल बस यादें होंगी;जब ये पल ना होंगे, तब सिर्फ बातें होंगी;जब पलटोगे जिंदगी के पन्नों को;तो कुछ पन्नों पर आँखें नम औरकुछ पर मुस्कुराहटें होंगी।




अजीब जुल्म करती हैं तेरी यादें मुझ पर;सो जाऊं तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती हैं।

Maak simpel je website Eigen site maken